गुजरे जमाने के मशहूर अभिनेता अशोक कुमार अपने यादगार अभिनय के लिए हमेशा याद रखे जायेंगे। अशोक कुमार ने अपना जन्म दिन मनाना इसलिए मनाना छोड़ दिया क्योंकि उसी दिन उनके भाई और गायक किशोर कुमार की पुण्यतिथि भी होती है। 
ऐसा माना जाता है कि अमिताभ बच्चन ऐसे हीरो हैं, जिसने सबसे पहले एंटी हीरो का छवि वाली भूमिकाएं कीं लेकिन उनसे पहले ये काम अशोक कुमार किस्मत फिल्म में कर चुके थे। ये फिल्म पांच साल तक चली थी।
अशोक कुमार के एक्टर बनने की कहानी दिलचस्प है। अशोक कुमार मुंबई आकर निर्माता-निर्देशक हिमांशु राय के साथ टेक्नीशियन के रूप में काम करने लगे थे। हिमांशु 1936 में फिल्म जीवन नैया बना रहे थे लेकिन तभी अफवाह उड़ी कि फिल्म के हीरो का हिमांशु की पत्नी देविका रानी, जो फिल्म की हीरोइन भी थीं, से अफेयर है। इसके बाद हिमांशु नाराज हो गए और अशोक कुमार से कहा कि वे अब उनकी फिल्म के हीरो होंगे। अशोक कुमार ने अभिनेता बनने से काफी इंकार किया, पर हिमांशु नहीं माने। इस तरह अशोक कुमार का एक्ट‍िंग करियर की शुरुआत हुई।
यहां तक कि शोले, जंजीर जैसी फ़िल्मों के को-राइटर सलीम खान की पहली कहानी अशोक कुमार ने ही ख़रीदी थी। वे उनके करीबी मित्र थे। अशोक कुमार ने फिल्मों के पेशे को बेहद सम्मान दिलाया।