सांबा, नगरोटा एनकाउंटर में 4 आतंकियों के सफाए के बाद भारतीय सुरक्षा बलों को आज रविवार को एक और बड़ी कामयाबी मिली है. जम्मू-कश्मीर के सांबा सेक्टर में पाकिस्तान से सटे अंतरराष्ट्रीय सीमा के पास सीमा सुरक्षा बल (BSF) और जम्मू-कश्मीर पुलिस की संयुक्त कार्रवाई में एक सुरंग का पता लगा है. यह सुरंग अंतरराष्ट्रीय सीमा से महज 160 मीटर की दूरी पर मिली है. सीमा सुरक्षा बल (BSF) ने सांबा जिले में अंतरराष्ट्रीय सीमा के पास सुरंग का पता लगाया है. संदेह जताया जा रहा है कि नगरोटा मुठभेड़ में मारे गए आतंकवादियों ने इस सुरंग से घुसपैठ की थी. संदिग्ध सुरंग अंतरराष्ट्रीय सीमा के पास सांबा सेक्टर में मिली. नगरोटा एनकाउंटर से मिली जानकारी के बाद सुरंग का पता लगाया गया है. अंतरराष्ट्रीय सीमा से 160 मीटर, तो बॉर्डर फेंस से 70 मीटर से दूर है और इसकी गहराई 25 मीटर है. नगरोटा एनकाउंटर में जैश-ए-मोहम्मद के चार आतंकियों के मारे जाने के 3 दिन बाद सुरक्षा बलों ने सांबा जिले के अंतरराष्ट्रीय सीमा (आईबी) क्षेत्र पर करीब 150 मीटर लंबी सुरंग का पता लगाया है, जिसके माध्यम से आतंकियों ने घुसपैठ की है. इस क्षेत्र में सुरंग को लेकर सर्च अभियान चलाया गया था. हाल ही में खोदी गई यह सुरंग जमीन से 15-20 फीट नीचे है. बीएसएफ की 48वीं बटालियन द्वारा बॉर्डर आउट पोस्ट (बीओपी) के साथ अंतरराष्ट्रीय सीमा पर पाक बीओपी चक भूरा के पास तलाश के दौरान इस सुरंग का पता चला. जम्मू-कश्मीर पुलिस के DGP ने बताया कि सीमा पार से सुरंग मिलने के बाद पाकिस्तान का झूठ एक बार फिर उजागर हुआ है. यह हाल ही में खोदी गई सुरंग है. कराची फैक्ट्री का सैंड बैग मिला है. यह एक और सबूत है कि पाकिस्तान आतंकवादियों के घुसपैठ को प्रायोजित कर रहा है.जम्मू क्षेत्र में आधा दर्जन सुरंगों की खोज की गई है जहां से पाकिस्तान स्थित आतंकवादी घुसपैठ करने की कोशिश कर रहे हैं. नए घुसपैठियों को एक सफल ऑपरेशन में मार दिया गया था, जो आगामी डीडीसी चुनावों को टारगेट करने के इरादे से आए थे. यह चुनाव यहां अनुच्छेद 370 के निरस्त होने के बाद पहली बार हो रहा है.