पटना। बिहार भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ संजय जायसवाल ने कांग्रेस और राहुल गांधी पर आतंकियों की भाषा बोलने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जम्मू-कश्मीर से न केवल आर्टिकल 370 हटाया, बल्कि उसे दो भागों में बांटकर केंद्रशासित प्रदेश भी बना दिया। इसके बाद ही देश में एक देश, एक विधान, एक प्रधान और एक निशान को लागू किया जा सका। जायसवाल ने कहा कि हमारे देश ही में ऐसे तमाम विरोधी सुर दिखाई दे रहे हैं जिनकी भाषा हमारे दुश्मन देशों से मिलती-जुलती दिखाई देती है, यहां तक कि कांग्रेस के पचासों बार लांच हो चुके युवा नेता राहुल गांधी ने ऐसे बयान दे डाले, जिनका इस्तेमाल पाकिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र में कर दिया। वैसे राहुल के लिए यह नई बात है भी नहीं। वह और उनकी पार्टी चीन के साथ किस तरह का समझौता कर रहे थे, इस पर भी उन्होंने अपना रुख स्पष्ट नहीं किया है और न ही इस पर कि उनकी पार्टी भारत विरोध के नए चेहरे तुर्की में ऑफिस खोल कौन सा देशहित का काम करने जा रही है।
  उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी के युवराज हों या कश्मीर में अपनी नाजायज खेती खत्म होने का रोना रो रहे अब्दुल्ला या मुफ्ती, इनकी खीझ बढ़ती ही जा रही है। जो व्यक्ति पूर्व मुख्यमंत्री रह चुका है, वह फारूक अब्दुल्ला चीन की मदद से आर्टिकल 370 को पुनर्बहाल करने की बात कर रहा है। महबूबा मुफ्ती इसके लिए युवाओं को भारत के खिलाफ बंदूक उठाने के लिए भड़काते हुए तिरंगे को जलाने व भारतीय संविधान को नहीं मानने का एलान कर रही है। देश के खिलाफ जारी इनकी इस बयानबाजी को कांग्रेस का सीधा समर्थन प्राप्त है। इनके भी एक नेता अमेरिका की मदद से 370 बहाल करने का दावा कर चुके हैं। जायसवाल ने कहा कि यह दिखाता है कांग्रेस का हाथ सीधे देशविरोधियों के साथ है। सत्ता के लिए अब उन्हें देश को अस्थिर करने वालों का समर्थन करने से भी गुरेज नहीं है। जायसवाल ने कहा कि प्रदेश की जनता को आश्वस्त करते हुए कहा, "भाजपा इन ताकतों का पूरे ज़ोर के साथ विरोध कर रही है औऱ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के एक भारत-श्रेष्ठ भारत के संकल्प को पूरा करने में लगी है। हम बिहार भाजपा के अध्यक्ष के तौर पर आप सभी को यह आश्वासन देना चाहते हैं कि हम लोगों के रहते भारत के खिलाफ किसी भी तरह का षडयंत्र विफल ही होगा।