दुबई । भारतीय फुटबॉल टीम के कप्तान सुनील छेत्री ने भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली से कहा है कि उन्होंने अपने जीवन में जीत से ज्यादा हार से सीखा है। स्टार फुटबॉलर छेत्री ने विराट से कहा, "मुझे लगता है कि जीवन में मैंने जीत से ज्यादा हार से सीखा है। मैं जब कुछ समय के लिए लगतार जीत रहा था तो मुझे लगा कि मैं लापरवाह सा हो गया था।" वहीं विराट छेत्री की बात से सहमत नजर नहीं आये और उन्होंने कहा, "हां, आप समझते हैं कि आप जीत से ज्यादा हार से सीख सकते हैं। जब आप जीतते हैं तो आप कई चीजों पर शायद ही ध्यान देते हो पर मैंने महसूस किया है कि हमें जीत पर भी ध्यान देना चाहिए। आपके पास सुधार करने और बेहतर होने के लिए हमेशा कुछ न कुछ होता है। अगर आप हार और जीत में निरंतरता बनाए रखते हैं तो आगे जाकर ज्यादा संतुलित हो सकते हैं।" छेत्री भारत के लिए सबसे ज्यादा गोल करने वाले खिलाड़ियों की सूची में पहले स्थान पर हैं जबकि पूरे विश्व में वह इस सूची में वह दूसरे नंबर पर हैं।वहीं कोहली ने जब छेत्री से उनकी प्रेरणा के बारे में पूछा तो उन्होंने कहा, "किसी तरह की तुलना नहीं। मैं इसे लेकर खुशी महसूस करता हूं और भूल जाता हूं। फुटबॉल खेलना मजा है और फिर जो प्यार मिलता है वो अविश्वनस्नीय है। मैंने कभी इसके बारे में सोचा भी नहीं था।" उन्होंने कहा, "मेरे पास जो है मैं वो सब दे देना चाहता हूं। मैं दबाव नहीं लेता। मैं सिर्फ इसका आनंद उठाता हूं क्योंकि मैं एक ऐसी जिंदगी जी रहा हूं जिसकी मैंने कल्पना भी नहीं की थी। मेरा ऐसा कोई दिन नहीं जाता जब मैं अपना 100 फीसदी नहीं देता।"