भोपाल, मध्य प्रदेश में दिवाली बाद कोरोना के लगातार बढ़ते मामलों ने शुक्रवार को एक बार फिर डरा दिया जब एक ही दिन में 1,500 से ज्यादा मामले सामने आ गए. मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने साफ कर दिया कि राज्य में फिर से लॉकडाउन नहीं लगाया जाएगा, लेकिन 5 शहरों में नाइट कर्फ्यू लगाने का ऐलान हो गया. 
नवंबर के महीने में कोरोना मामलों में ये अब तक का सबसे बड़ा उछाल है, जब कुल 1,528 नए कोरोना केस सामने आए. पिछले 24 घंटे में कोरोना से 9 लोगों की मौत भी हुई है. मध्य प्रदेश में कोरोना से मृतकों का आंकड़ा बढ़कर 3,138 तक पहुंच गया है.
कोरोना के खतरे को देखते हुए मध्य प्रदेश सरकार ने शुक्रवार को बड़ा फैसला लिया और राजधानी भोपाल समेत प्रदेश के 5 शहरों में नाइट कर्फ्यू का ऐलान कर दिया.
राज्य के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी और बताया कि 'भोपाल, इंदौर, ग्वालियर, रतलाम और विदिशा में कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ने पर शनिवार 21 नवंबर से अगले आदेश तक नाइट कर्फ्यू रहेगा. कर्फ्यू रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक रहेगा. यह तब तक जारी रहेगा जब तक संक्रमण के मामले कम नहीं हो जाते.
उन्होंने कहा कि इन शहरों में नाइट कर्फ्यू के दौरान मालवाहक वाहनों का आवागमन जारी रहेगा. फैक्टरी में काम करने वाले श्रमिक भी आ-जा सकेंगे. इन पर किसी प्रकार की रोक नहीं रहेगी.
मध्यप्रदेश में कोरोना के कुल मामले बढ़कर 1,89,546 तक पहुंच गए हैं. कोरोना का सबसे ज्यादा असर इंदौर और भोपाल में है. इंदौर में जहां 313 नए मामले सामने आए हैं तो भोपाल में कोरोना के 378 नए मामले सामने दर्ज किए गए.