नई दिल्ली । भारतीय खो-खो महासंघ के अध्यक्ष सुधांशु मित्तल को उम्मीद है कि खो-खो महासंघ जल्द ही इंडियन प्रीमियर लीग और कबड्डी लीग की तर्ज पर खो-खो लीग के आयोजन पर विचार कर रहा है। मित्तल ने कहा, ‘‘लीग अब हर खेल में हो रही है। क्रिकेट के बाद, लोगों ने कबड्डी लीग को काफी सराहा है। कबड्डी की तरह ही खो-खो में भी गति शामिल है। लोगों को यह बहुत पसंद आएगी। हमारी लीग 21 नवंबर से शुरू होने वाली थी, लेकिन कोविड-19 के कारण इसे स्थगित कर दिया गया। हम जल्द ही नई तारीखों की घोषणा करेंगे। वहीं मित्तल ने इसके साथ ही अन्य खेलों की तरह इस ही खो-खो से जुड़े खिलाड़ियों को भी सरकारी नौकरियों में आरक्षण देने के केंद्र सरकार के फैसले की सराहना करते हुए कहा कि इससे यह पारपंरिक खेल देश में अधिक लोकप्रिय होगा। मित्तल ने कहा, मैं खो-खो को बढ़ावा देने में मदद करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और खेल मंत्री किरेन रीजीजू का आभार व्यक्त करता हूं। पहले सरकारी नौकरियों के लिए (खेल कोटे में) खो-खो पर विचार नहीं किया जाता था, लेकिन अब खो-खो खिलाड़ियों को भी इस योजना के तहत नौकरी मिल सकती है। और इसका श्रेय केंद्र सरकार को जाता है।’’उन्होंने कहा, इसलिए, खिलाड़ी अब सुरक्षित महसूस कर रहे हैं और मुझे भरोसा है कि इस तरह के प्रेरक कदम भारत में खेल को बढ़ावा देंगे।